Author: chandel7

मानवती 0

मानवती

मानवती रामधारी सिंह ‘दिनकर’ के जन्म दिवस के अवसर पर उनकी एक प्यारी कविता (२३ सितम्बर १९०८ -२४ अप्रैल १९७४) रूठ गई अबकी पावस के पहले मानवती मेरी की मैंने मनुहार बहुत , पर...

PIPING STRESS ANALYSIS A BIT DYNAMIC… 1

PIPING STRESS ANALYSIS A BIT DYNAMIC…

Objective The objective of pipe stress analysis is to ensure safety against failure of the Piping System by verifying the structural integrity against the loading conditions, both external and internal, expected to occur during...

मेरे बचपन की प्यारी कविता 0

मेरे बचपन की प्यारी कविता

उठो लाल अब आँखें खोलो पानी लायी मुह धो लो बीती रात कमल दल फुले जिनके ऊपर भावरे झूले   चिढिया चहक उठी पेड़ो पर बहने लगी हवा आती सुंदर   नभ में न्यारी...

कबीर के दोहे 0

कबीर के दोहे

पहले शब्द पहचानिये, पीछे कीजे मोल । पारखी परखे रतन को, शब्द का मोल ना तोल॥ निंदक नियरे राखिए, आंगन कुटी छवाय। बिन पानी, साबुन बिना, निर्मल करे सुभाय॥ धीरे-धीरे रे मना, धीरे सब...

Story of a Stray Dog 0

Story of a Stray Dog

I am a dog and want to write our own stories can I !!! I got that you are smiling … don’t hide your face. Laugh with loud yes it very good for health...

कपिला 0

कपिला

कपिला राधेपुर गांव के जोखयी चाचा की एकलौती संतान थी। जोखयी ज्यादा पड़े लिखे नहीं  थे। दसवी की परीक्षा बड़ी मुस्किल से पांच बार में पास किया था। पास होने की खुशी जोखयी के पिता बर्दास्त नहीं कर सके और...

व्यथा 0

व्यथा

ऋचा रोते-रोते  माँ के पास आई “माँ.…माँ ” क्या हुआ माँ ने पूछा। “रिया ने मेरी गुड़िया का पैर तोड़ दिया और किचन सेट भी बिगाड़ दिया। ” कोई बात नहीं हम नयी गुड़िया लायेगे...